कर्फ्यू और लॉकडाउन से न थमे इकॉनमी की रफ्तार, क्या फिर से नया पैकेज लाएगी मोदी सरकार।

करोना एक बार फिर से भारत में अपना पैर पसारता जा रहा है, पिछले साल के जैसा इस बार को रोना उससे भी ज्यादा घातक साबित हो रहा है और लगातार दिन प्रतिदिन भारत में कैसे बढ़ते जा रहे हैं अब प्रतिदिन भारत में लगभग 200000 से भी ज्यादा मरीज मिल रहे हैं।

पिछले साल भी कोरोना ने अर्थव्यवस्था को काफी नुकसान पहुंच आई थी एक बार फिर से वैसा ना हो इसके लिए केंद्र सरकार एक और राहत पैकेज जल्द ही ला सकती है।

ज्यादातर राज्य कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए नाइट कर्फ्यू और प्रतिबंध लगा चुकी है और इससे अर्थव्यवस्था के सुधार पर असर पड़ सकता है।

अगर एक बार फिर से यह महामारी की दूसरी लहर गरीबों की आजीविका को बाधित करता है तो केंद्र सरकार एक बार फिर से राहत पैकेज का ऐलान कर सकती है।

केंद्र सरकार ने पिछले साल 26 मार्च से 17 मई के बीच आर्थिक राहत पैकेज का ऐलान किया था जिसके तहत उन्होंने कोविड-19 से बुरी तरीके से ग्रसित लोगों को इसका लाभ दिया था। केंद्र सरकार ने 20.97 लाख करोड़ रुपए का पैकेज दिया था।

केंद्रीय वित्त मंत्री, भारतीय रिजर्व बैंक और अन्य प्रमुख विभाग एक अन्य प्रोत्साहन के लिए जरूरत है, और समय के लिए एक धारको के संपर्क में है और हो सके तो जल्दी ही फिर से कुछ राहत पैकेज का ऐलान हो सकता है।

Leave a Comment